Bihar Board 10th Science Viral Question 2024
Bihar board

Bihar Board 10th Science Viral Question 2024: बिहार बोर्ड कक्षा 10 विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र यहां से जल्दी से प्राप्त करें, 100% सही उत्तर मिलेगा

Bihar Board 10th Science Viral Question 2024: बिहार बोर्ड कक्षा 10 विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र यहां से जल्दी से प्राप्त करें, 100% सही उत्तर मिलेगा

BSEB Class 10th Science Viral Question Answer 2024: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा 2024 के लिए आज पांचवा दिन विज्ञान का प्रश्न पत्र रहेगा आज विज्ञान का आप लोग वायरल प्रश्न पत्र को पढ़ना चाहते हैं या फिर बिहार बोर्ड कक्षा 10 विज्ञान का आंसर की को सबसे पहले प्राप्त करना चाहते हैं तो आप लोग हमारे इस लेख को जरूर पढ़ें यहां पर आपको बिहार बोर्ड का सदस्य विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र मिलते रहेगा। Bihar Board 10th Science Viral Question 2024

Join For Official Update

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
YouTube Channel Subscribe
 

Bihar Board 10th Science Viral Question 2024: जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बिहार बोर्ड कक्षा 10 विज्ञान का आज परीक्षा होगा जिसके चलते छात्र छात्राएं बहुत दिनों से पढ़ाई कर रहे थे अब उनका मैट्रिक परीक्षा 2024 का विज्ञान का पांचवा विषय पड़ जाएगा इसके बाद अंतिम विषय अंग्रेजी का रहेगा तो आप सभी परीक्षार्थी को हम बताना चाहते हैं कि आप लोग बिहार बोर्ड का सदस्य विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र को पढ़ना चाहते हैं कि कौन-कौन से परीक्षा में पूछे जाएंगे कौन-कौन से क्वेश्चन बोर्ड परीक्षा में आ सकते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी नीचे दी गई है।Bihar Board 10th Social Science 2024

Bihar Board 10th Science Viral Question 2024

Bihar Board Matric Exam 2024 Science Viral Question

जैसा कि आप सभी को पता है कि बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर जी ने यह स्पष्ट रूप से कहा दिया है कि इस बार मैट्रिक परीक्षा 2024 में किसी भी तरह के चोरी नहीं होगी सभी परीक्षार्थी बिना नकल करते हुए ही परीक्षा हॉल में परीक्षा ठीक-ठाक से दे पाएंगे इसके साथ ही साथ हम आप सभी को बता रहे हैं कि बिहार बोर्ड के द्वारा आज विज्ञान का विषय है जो की पहली पाली का विषय 9:30 से शुरू होकर 11:45 में समाप्त हो जाएगी वहीं दूसरे पालि का का परीक्षा 2:00 बजे से शुरू होकर 4:15 में समाप्त हो जाएगी।

आप सभी परीक्षार्थी अगर बिहार बोर्ड कक्षा 10 का विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र को सबसे पहले प्राप्त करना चाहते हैं तो आप लोग जल्दी से हमारे व्हाट्सएप ग्रुप तथा टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करते ही आपको बिहार बोर्ड कक्षा 10 विज्ञान का वायरल प्रश्न पत्र आपको मिल जाएगा तो आप लोग जल्दी से जल्दी हमारे व्हाट्सएप ग्रुप का टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें।

इन सभी प्रश्नों पर ज्यादा ध्यान दें।

[ 1. ] साबित करें। f=R/2

Ans ⇒ दिए गए चित्र में B B’ एक अवतल दर्पण है। जिसका ध्रुव P है। तथा PC मुख्य अच्छ है। PC के समांतर एक निकट किरण AB दर्पण से परावर्तन के बाद फोकस पर गुजरती है।

चुकि CB दर्पण के सतह पर B अभिलंब है। इसलिए परावर्तन के नियम से।
परंतु <ABC=<BCF (एकांतर कोण)
फलस्वरुप, ΔBCF एक समदिबाहु त्रिभुज है।
अत: CF=BF ——(i)
यदि B, P के निकट हो तब PF=BF ——(ii)

अत: PF = CF
PF =Pc/2       

f = R/2

2.उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस क्यों कहा जाता है ?

Ans ⇒ उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस इसलिए कहा जाता है। कि अक्ष के समांतर चलने वाले सभी आपतित किरणे लेंस से अपवर्तित होकर मुख्य अक्ष के एक बिंदु पर आकर मिलती है। अत: उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस कहा जाता है।

समंजन क्षमता किसे कहते है ?

Ans – वस्तु दूर हो या निकट उसे साफ-साफ देख लेते हैं। आँख ऐसा अपने लेंस की फोकस दुरी बदलकर करता है। यह परिवर्तन सिलियरी पेशियों के तनाव के घटने बढ़ने से होता है। आंख के इस क्षमताको ही समंजन क्षमता कहते हैं।

Note ⇒ मानव नेत्र के स्पष्ट दृष्टि की न्यूनतम दूरी 25 सेंटीमीटर होता है। तथा अधिकतम दूरी अनंत होता है।

नेत्र दोष क्या है ?

Ans – मानव नेत्र किसी वस्तु को 25 सेंटीमीटर न्यूनतम से लेकर अनंत तक स्पष्ट देख लेती है। कई कारणों से जब नेत्र इसके बीच में रखी वस्तु स्पष्ट नहीं देख पाती है। इस कमी को नेत्र दोष कहा जाता है।

नेत्र दोष के प्रकार ⇒

 नेत्र दोष के मुख्यतः तीन प्रकार हैं।

(I) निकट दृष्टि दोष ( myopia )
(II) दूर दृष्टि दोष ( Hypermetropia )
(III) जरा दृष्टि दोष ( Presbyopia )

( i ) निकट दृष्टि दोष ( myopia ) किसे कहते हैं ?

Ans – जिस नेत्र में निकट दृष्टि दोष होता है। वह दूर की वस्तुओं को स्पष्ट नहीं देख पाता है। इसे स्पष्ट दृष्टि अनंत ना होकर कोई निकट बिंदु होता है। निकट दृष्टि दोष कहा जाता है ?

निकट दृष्टि दोष के कारण ⇒

(I) नेत्र गोलक का लंबा हो जाना जिससे लेंस एवं रेटिना के बीच की दूरी बढ़ जाती है।

(II) नेत्र लेंस का आवश्यकता से अधिक मोटा हो जाना जिससे फोकस दूरी कम हो जाती है। इस स्थिति में प्रतिबिंब रेटिना के आगे बढ़ जाती है। जिसके कारण वस्तु स्पष्ट दिखाई नहीं पड़ती है।

निकट दृष्टि दोष के उपचार ⇒ इस दोष को दूर करने के लिए जिस चश्मे का प्रयोग किया जाता है। वह अवतल लेंस या अपसारी लेंस होता है। क्योंकि यह दूर से आने वाले समांतर किरणों का इतना अपसरीत कर देता है। की किरने अनंत से आती हुई प्रतीत होता है।

(II) दूर दृष्टि दोष ( Hypermetropia ) किसे कहते हैं ?

Ans – जिस नेत्र में दूर दृष्टि दोष होता है। उसे निकट की वस्तु स्पष्ट नहीं दिखाई पड़ती है। इसमें दृष्टि का निकट बिंदु 25 सेंटीमीटर ना होकर थोड़ा दूर हो जाता है।

दूर दृष्टि दोष के कारण ⇒

(I) नत्र गोलक का छोटा हो जाना जिससे लेंस एवं रेटिना के बीच की दूरी घट जाती है।

(II) नेत्र लेंस की आवश्यकता से अधिक पतला हो जाना जिसके कारण फोकस दूरी बढ़ जाती है।

दूर दृष्टि दोष के उपचार ⇒  दूर दृष्टि दोष को दूर करने के लिए जिस चश्मे का प्रयोग किया जाता है। उसका लेंस उत्तर या अभिसारी लेंस होता है।

(III) जरा दृष्टि दोष ( Presbyopia ) किसे कहते हैं ?

Ans – उम्र बढ़ने के साथ-साथ नेत्र लेंस के समंजन क्षमता कम हो जाती है। जिसके कारण ना तो नजदीक की वस्तु स्पष्ट दिखाई देती है। और ना ही दूर की अर्थात नेत्र निकट दृष्टि तथा दूर दृष्टि दोष दोनों से पीड़ित होता है।

जरा दृष्टि दोष के उपचार⇒ इस दोष को दूर करने के लिए जिस चश्मे का उपयोग किया जाता है। उसमें वायु फोकल लेंस का प्रयोग किया जाता है। चश्मे में ऊपर का भाग दूर की वस्तु को देखने के लिए, तथा नीचे का भाग पढ़ने में प्रयोग किया जाता है।

Read Also……………………

Lavkush Kumar
नमस्कार दोस्तों आप सभी का हमारे इस वेबसाइट importantclass.com में स्वागत है। इस वेबसाइट के द्वारा आप सभी लोगों तक सभी प्रकार की खबरें जैसे:– देश–दुनिया, बॉलीवुड न्यूज़, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो ( Technology News in Hindi ) , क्रिकेट और राशिफल Etc. रोजाना ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।
http://importantclass.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *